Elon Musk Journey of a Visionary Entrepreneur

ये इन्सान बात करता है मंगल पर जीवन बसाने की।  

ये इन्सान बात करता है मंगल पर जाकर मरने  की।

ये इंसान जहाँ एक और पृथ्वी को सुरक्षित करने की बात  करता है वहीँ दूसरी तरफ यहाँ से पलायन करने के रास्ते भी दिखाता है।

  

दुनिया में आज तक जितने भी genius हुए है जिन्होंने दुनिया को बदलने के लिए बहुत बड़े बड़े कदम उठाए उनमें से बहुत कम ऐसे है जो  एलोन मस्क के कैलिबर से मैच करते है।

आप सभी ने निकोला टेस्ला, एलन ट्यूरिंग, राइट ब्रदर्स, हेनरी फोर्ड का नाम सुना होगा ये सभी वो लोग थे जिन्होंने पुरानी परम्पराओं को ठुकराया, दुनिया से मिल रही चुनौतियो को स्वीकार किया और ऐसे ऐसे आविष्कार किये कि पूरी दुनिया को  सोचने पर मजबूर कर दिया इनके अविष्कारों ने दुनिया का कायाकल्प कर दिया।

अगर हम आधुनिक युग के जीनियस के बारे में बात करें तो सबसे पहला जो नाम आता है वो है एलोन मस्क का।

आइये एलोन मस्क के जीवन के बारे में और गहराई से बात करते है कि कैसे उन्होंने दिमाग को हिला देने वाले कारनामें किये और कैसे उनके बारें में सोचा।

जिन लोगो ने एलोन मस्क का नाम नहीं सुना है तो वो ये जान लें कि ये वही इंसान है जिसने PayPal, SpaceX, Tesla, SolarCity जैसी कंपनियों को खड़ा किया। इसके अलावा और भी बहुत सारे इनोवेटिव प्रयास किये और कर रहे है जिनका प्रभाव विश्व स्तर पर हुआ है।

एलोन मस्क एक Engineer, Inventor and a Visionary leader है जिनकी अलग तरह से सोचने की क्षमता ने दुनिया को हैरान कर दिया है।  कुछ लोग तो उनकी तुलना Iran Man मूवी के हीरो टोनी स्टॉक से करते है क्योंकि इस मूवी का हीरो भी बहुत कुछ हटकर करता है।

एलोन मस्क का जन्म 28 जून 1971 को साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया शहर में हुआ था उनके पिताजी एक इंजिनियर और माँ डायटिक्स विशेषज्ञ थी जब एलोन 9 साल के थे तब इनके माता-पिता तलाक लेकर अलग हो गये और एलन अपने पिता के साथ प्रिटोरिया में रहने लगे। एलोन के अलावा उनके 2 छोटे भाई बहिन भी थे।

एलोन किताब पढ़ने के बहुत शौक़ीन थे, १० साल की छोटी सी उम्र में ही उन्होंने ऐसी ऐसी किताबे पढ़ ली थी जो कॉलेज स्टूडेंट भी नहीं पढ़ते थे और 12 साल की उम्र में एलोन ने अपने घर पर ही रखे कंप्यूटर पर खुद से ही किताबे पढ़ पढ़ कर प्रोग्रामिंग की, तथा बेसिक लैंग्वेज  की मदद से एक सॉफ्टवेयर गेम बनाया जिसे उन्होंने 500 डॉलर में एक कंपनी को बेच दिया और अपने स्कूल की फीस इन्ही पैसो से भरी।

अगर आप ऐसा सोच रहे है कि एलोन किसी धनवान पिता के बेटे थे तो आप गलत है। जैसे-तैसे 17 साल की उम्र में साउथ अफ्रीका से उन्होंने हाई स्कूल की पढाई पूरी कर ली। इसके बाद वो अपनी माँ के पास कनाडा रहने चले गए।

1995 में फिजिक्स में पीएचडी करने के लिये एलोन कनाडा से USA शिफ्ट हो गए और स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले लिया। लेकिन USA आते ही उन्हें इन्टरनेट की बूम का अंदाजा हो गया और शुरू के 2 दिन में ही पीएचडी की पढ़ाई छोड़ दी। तथा अपना सारा ध्यान इन्टरनेट में लगाया और अपने भाई किम्बें मस्क के साथ मिलकर एक online सॉफ्टवेर कंपनी Zip2 का निर्माण किया।  

ये कंपनी online न्यूज़ पेपर इंडस्ट्रीज के लिए सिटी गाइड का काम करती थी। बाद में Zip2 को कॉम्पैक ने 307 मिलियन डॉलर में खरीद लिया। अपनी 7% हिस्सेदारी से मिले लगभग २२ मिलियन डॉलर के कुछ हिस्से से X.com वेबसाइट बनायीं जिसका नाम बाद में बदलकर Paypal कर दिया।

इस कंपनी ने पेमेंट इंडस्ट्री में हमेशा के लिए बदलाव ला दिया। जुलाई २००२ में ebay.com ने 1.5 बिलियन डॉलर में इसे ख़रीदा, जिसमे से 165 मिलियन डॉलर एलोन मस्क को मिले।

अब तक एलोन एक उधमी के रूप में स्थापित हो चुके थे। लेकिन वो सिर्फ इतने से ही संतुष्ट नहीं हुए और उन्होंने अपना सारा पैसा अलग अलग कंपनी में लगा दिया तथा अपने सभी खर्च कम कर दिए जिसकी वजह से लोस अन्जेल्स में जाकर अपने दोस्तों के यहाँ किराये पर रहने लगे।  2002 में एलोन ने SpaceX कंपनी बनायी जो कि दुनिया की ऐसी पहली प्राइवेट कंपनी है जिसका मकसद मंगल गृह पर इंसान को बसाने का है। एलोन ने space साइंस और एरोनॉटिक्स की कोई डिग्री नहीं ली थी लेकिन उन्होंने एरोनॉटिक्स की किताबे घर पर ही पढ़कर इसकी जानकारी इकठ्ठा की। लेकिन इतने बड़े प्रोजेक्ट पर बहुत से पैसो की और टेक्नोलॉजी की जरुरत थी इसलिए उन्होंने settelite को पृथ्वी की ऑर्बिट में भेजकर पैसे कमाने का प्लान बनाया परन्तु इसके लिए उनके पास रॉकेट्स बनाने की technic नहीं थी। रॉकेट्स खरीदने के लिए वो रूस गये जहा उन्होंने देखा रॉकेट्स की कीमत बहुत ज्यादा है जिस से settelite ऑर्बिट में पहुँचाना बहुत ही महंगा था उन्होंने खुद का रॉकेट बनाने का बहुत ही साहसिक फैसला लिया, एक ऐसा फैसला जो किसी भी प्राइवेट कंपनी ने आज तक नहीं लिया था। उन्होंने खुद की टेक्नोलॉजी से खुद के रॉकेट बनाए और अपने रॉकेट को space में भेजने की तैयारी की।  लेकिन सफलता को पाना इतना आसान नहीं था और एक के बाद एक लगातार 3 बार रॉकेट्स space तक नहीं पहुँच पाए और बीच में ही क्रेश हो गए। इन तीनो असफलताओं ने एलोन को फैनेंसिअली कंगाली की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया।

 

Bounce Back :  लेकिन कहते है ना कि जब इरादे दीवानगी की हद तक हों और कुछ कर गुजरने का जज्बा पागलपन की हद तक पहुँच जाए तो सफलता को भी घुटने टेकने पड़ते है। एलोन के साथ भी ऐसा ही हुआ तीनो असफलताओं से वो निराश नहीं हुए और उन्होंने कंगाली की कगार तक पहुंचकर भी एक बार फिर प्रयास करने का फैसला लिया। उनके इस फैसले से लोग उन्हें पागल सनकी तक कहने लगे। लेकिन इस जीनियस ने अपनी पिछली सभी गलतियों में सुधार करते हुए अपनी नाकामयाबी को कामयाबी में तब्दील कर लिया। उनकी कामयाबी से space इंडस्ट्रीज में खलबली मच गयी कि कैसे एक आदमी जिसने कभी कोई रॉकेट साइंस की पढाई नहीं की वो space में settelite लांच करने लगा है।

SpaceX  कंपनी अब एक space ट्रांसपोर्ट बन चुकी है जो कम खर्च पर नासा space एजेंसी के उपकरण कार्गो और settelite ऑर्बिट तक पहुचाती है।  

Reusable Technology: SpaceX से पहले रॉकेट Reusable टेक्नोलॉजी पर आधारित नहीं थे। जिसमें रॉकेट केवल एक बार ही प्रयोग किये जाते है और वो रॉकेट space से धरती पर वापस कभी नहीं आते है लेकिन SpaceX के रॉकेट Reuseable Technology  पर आधारित है। जिसमें वो एक ही Vahicle से एक के बाद एक सभी मिशन पूरे कर सकते है जो की इसरो, NASA समेत कई बड़ी एजेंसी के लिए एक चुनौती है केवल इतना ही नहीं एलोन एक ऐसा Settelite Space में छोड़ना चाहते है जिस से पूरी धरती पर किसी भी जगह बिना नेटवर्क प्रॉब्लम के बहुत ही कम खर्च पर लोग तेज़ इन्टरनेट चला पाए।

SpaceX की सफलता के बाद एलोन ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा, एलोन ने २००४ में टेसला मोटर्स कंपनी में अपना इन्वेस्टमेंट किया जिसका मिशन  इलेक्ट्रॉनिक कार बनाने का है। एलोन अपने विज़न और हुनर से टेसला के सीईओ बन गए। टेसला मोटर्स का भविष्य बहुत ही उज्जवल है क्योकि एलोन ने पहले ही भाप लिया था की आने वाला समय इलेक्ट्रॉनिक्स कार का है।

लेकिन एलोन इसके बाद भी नहीं रुके उन्होंने एक और कंपनी की नीव रख दी जिसका नाम है SolarCity, जो USA की दूसरी सबसे बड़ी Solar कंपनी है।

इसके बाद उन्होंने एक और प्रोजेक्ट की शुरुआत की HyperLoop, यह एक पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन प्रोजेक्ट है। जिसमे लोग ट्रैन में बैठकर 1 हज़ार किलोमीटर से ज्यादा की गति से ग्राउंड लेवल पर सफ़र कर पाएंगे यह वेक्यूम और मेग्नेटिक अनर्जी पर बना अपनी तरह का पहला प्रोजेक्ट है जो अभी ट्रायल अवधि पर है जो पूरा होने पर ग्राउंड लेवल पर दुनिया का सबसे तेज ट्रांसपोर्ट सिस्टम बन जायेगा जो बुलेट ट्रेन से भी ज्यादा तेज़ होगा।

इतना सब जानने के बाद आप समझ गए होंगे कि क्यों एलोन मस्क को दुनिया ने सराहा है उनकी सफलता से प्रभावित होकर दुनिया की अग्रिम स्पेस एजेंसी NASA ने SpaceX के साथ $1.6 billion का कॉन्ट्रैक्ट साइन किया है। इतना ही नहीं Google और Fidility ने भी  $1 billion का करार एलोन मस्क के साथ किया है।

Please follow and like us:
error0

You may also like...

5 Responses

  1. Dinesh Kumar Pachauri says:

    Amazing person

  2. PabloHax says:

    It is simply excellent idea

  3. ipfan.info says:

    Everybody has heard of Elon Musk. But if you haven t and are aiming to venture out, you have landed on the right blog post. For people who are not aware about this visionary legend, here s a summary of the man, on a path to saving humanity from excessive carbon emissions and asteroids. For the record, I find it quite disrespectful while describing the raddest man on Earth, in justwords.