Common Mistakes In Direct Selling

डायरेक्ट सेलिंग एक ऐसा व्यवसाय है जिसे लोग बहुत आसानी से जॉइन तो कर लेते है लेकिन इस बेहतरीन व्यवसाय को आगे नहीं बढ़ा पाते, या यू कहिये कि बहुत जल्दी ही मैदान छोड भागते है। इसकी वजह तो बहुत हो सकती है लेकिन कुछ प्रमुख कारणों पर मैं आपका ध्यान डालना चाहूंगा।

  • Choosing Hype Over Common Sense: मैंने ऐसे बहुत लोग को देखा है जो इस बिज़नेस को बिना सोचे समझे किसी भी बड़े लीडर से प्रभावित होकर बहुत आसानी से जॉइन कर लेते है। इस बिज़नेस में सफल होने के लिए उन्हें अपने अंदर क्या बदलाव लाने होंगे इसकी उन्हें कोई समझ नहीं होती और ना ही वो अपना कॉमन सेंस इस्तेमाल करते है। उनके अपने कोई टारगेट नहीं होते है और न ही इस बिज़नेस को करने के कारण होते है। इसीलिए जब भी छोटे मोटे रजेक्शन्स उनको मिलते है तो वो एकदम नेगेटिव हो जाते है और चूंकि उनका कोई ड्रीम इस काम को करने का कारण नहीं होता है इसीलिए बहुत जल्दी इस काम को छोड़ देते है। और फिर समाज में कहते घूमते है कि हमने भी करके देखा था इसमें कुछ नहीं होता, सब पागल बनाने के धंधे है।
  • Not Loving their Products : डायरेक्ट सेलिंग की सबसे अच्छी बात ये है की इसमें आप कुछ रोजाना उपयोग में आने वाली वस्तुओँ का इस्तेमाल करके और उसके बारे में दुसरे लोगो को बताकर बहुत सारा पैसा कमा लेते हो। लेकिन कुछ लोग होते है की वो अपने प्रोडक्ट्स के प्यार करना तो दूर उनको इस्तेमाल भी नहीं करते है। जब वो खुद ही इस्तेमाल नहीं करते है तो दूसरो से इस्तेमाल कैसे कराएँगे। बिज़नेस का बेसिक रूल है उसको ही वो खुद फॉलो नहीं करते है और फिर कहते है कि ये काम बेकार है इसमें कुछ नहीं होता है। लेकिन इसके विपरीत जो लोग अपने प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल लगातार करते है और उसके प्रचार जोर शोर से करते है उनकी बड़ी टीम बन जाती है और वो कामयाब हो जाते है।
  • Not targeting the right people: जब आप लोगो को इस बिज़नेस को बताते है तो अधिकतर लोग आपको मना करते है, और कुछ लोग आपके साथ काम करने के लिए तैयार हो जाते है। मना करने वाले लोगो में कुछ ऐसे लोग भी होते है जिनसे हमें बिज़नेस को जॉइन करने की बहुत उम्मीद थी। उनका मना करना हमे बहुत अखरता है और हम लगातार उन्हें टारगेट करते रहते है और अपना वक्त नए लोगो को प्लान बताने के बजाय उन लोगो के पीछे ख़राब करते रहते है। और जब रिजल्ट्स नहीं आते तो हताश हो जाते है।
  • Reinventing The Wheel: लोग अपनी गलतियों से सीख कर उन्हें सुधारने के बजाय बार बार उन्ही गलतिओं को दौहराते रहते है। जिस काम को करने के बाद उन्हें रिजल्ट्स नहीं आते बार बार उन्हें करते रहते है। खुद का दिमाग लगाकर क्रिएटिव होने के बजाय दूसरे लोगो को फॉलो करते रहते है।
  • Not reading the fine prints: किसी भी काम में सफल होने के लिए लगातार सीखते रहना और खुद को अपडेट रखना बहुत जरूरी होता है। और ये यूनिवर्सल लॉ डायरेक्ट सेल्लिंग में भी लागू होता है। इस व्यवसाय में बने रहने के लिए आपको अपना कम्फर्ट जॉन छोड़कर इस बिज़नेस से रिलेटेड अच्छी किताबें पढ़ना बहुत जरूरी है जो आपको अपने कॉम्पिटिटर से हमेशा आगे रखेगा। लेकिन ज़्यादातर लोग इस छोटी सी आदत को नहीं अपना पाते है और इस बिज़नेस में अपडेट न रहने की वजह से बाहर हो जाते हैं।

Please follow and like us:
error0

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *